Thursday, February 18, 2010

तसलीमा नसरीन को वीज़ा नहीं, बंगाल चुनाव पास आ रहे हैं…

तसलीमा नसरीन को भारत सरकार ने वीज़ा नवीनीकरण करने से मना कर दिया है… आखिर एक "महिला" ने दूसरी "महिला" की नहीं सुनी, क्योंकि एक और "महिला" को पश्चिम बंगाल चुनाव में वोट लेना है… खबर पढें…

http://timesofindia.indiatimes.com/india/Decision-not-to-renew-residence-permit-shocking-Taslima/articleshow/5584512.cms

अब आप अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता, मानवाधिकार आदि के भजन गाते रहिये… मुसलमानों को खुश करने के लिये कांग्रेस और वामपंथी कितनी भी नीचे गिर सकते हैं… हाँ लेकिन भाजपा यदि हिन्दू वोटों की बात करे तो वह बड़ा अपराध है…

शर्मनिरपेक्षता at its height...

3 comments:

nitin tyagi said...

sickulars

February 18, 2010 at 9:05 PM
Anonymous said...

Husain Ko Sammaan,
Taslima Ko Apmaan,
Yahi Hai Sickularism BhaiJaan!

February 19, 2010 at 1:08 AM
विक्रम एक शांत वादळ said...

शर्मनिरपेक्षता at its height...
wellsaid

February 19, 2010 at 8:18 PM

Post a Comment

बेधड़क अपने विचार लिखिये, बहस कीजिये, नकली-सेकुलरिज़्म को बेनकाब कीजिये…। गाली-गलौज, अश्लील भाषा, आपसी टांग खिंचाई, व्यक्तिगत टिप्पणी सम्बन्धी कमेंट्स हटाये जायेंगे…