Monday, March 1, 2010

पंजाब के कई शहरों में ईसाईयों द्वारा दंगा-फ़साद…

कथित रूप से ईसा मसीह के अपमानजनक चित्र को लेकर पंजाब के कई शहरों में ईसाई युवकों ने जबरन दुकानें बन्द करवाईं और वे हथियारों तथा लाठियों से लैस थे… फ़रीदकोट, बटाला और जालन्धर आदि शहरों में "नव-धर्मान्तरित" ईसाई युवकों ने जमकर उत्पात मचाया… तुरन्त ऑल इंडिया क्रिश्चियन कमेटी के सदस्य भी पहुँच गये, जिसमें धर्म पतिवर्तन के लिये कुख्यात जॉन दयाल भी शामिल थे… पूरी की पूरी रिपोर्ट भारत के ईसाई मीडिया द्वारा दबा दी गई… और यह सब हम नहीं कह रहे… बल्कि ईसाईयों की ही एक वेबसाईट पर यह दिया है… इसे पढ़िये…

http://www.bosnewslife.com/11630-churches-shops-destroyed-in-indias-punjab-state

5 comments:

Anonymous said...

अभी कोए माई का लाल है जो "अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता" के लिये बोलेगा? एम एफ हुसैन के लिये छाती पीटने वाले दोगले कहाँ हो?

March 1, 2010 at 6:56 PM
mahadev said...

विश्व की 80% समृद्धि ईसाईयो के पास है जबकी जनसंख्या सिर्फ 20% । वह अपनी समृद्धि का प्रयोग गैर ईसाईयो के धर्मानतरण के लिए कर रहे है । लोभ-लालच के द्वारा धर्मानतरण कराना व्यक्ति के धार्मिक स्वतंत्रता के उपर आघात है । भारत मे आज के दिन केन्द्रिय सत्ता ईसाई पक्षधरो के हात मे है । इसका लाभ धर्मानतरण करने वाले संगठन बखुबी उठा रहे है । लेकिन धर्मानतरण वस्तुतः राष्ट्रांतरण है, इस सत्य को हम नही समझ पा रहे है । अगर धर्मानतरण राष्ट्रांतरण न होता तो भारत के पुर्वजो वाले करोडो भारतीय मुसलमान आज के दिन भारत से ज्यादा साउदी अरब के प्रति निष्ठा न रख रहे होते । इस सत्य को समझने एवम समझाने कि आवश्यकता है ।....... बात ईसाईयो कि समृद्धि की है तो अगर हमारे शासक देशभक्त हो तो कोई कारण नही कि भारत सोने की चिडिया नही बन सकता । आज हम मधुमखी की तरह मेहनत करते है और हमारी समृद्धि अर्थात शहद युरोप या अमेरिका के पास जा रहा है । नितियो मे परिवर्तन आवश्यक है।

March 1, 2010 at 7:40 PM
himwant said...

अगला विश्व-गुरु हिन्दुओ के बीच जन्म लेगा । इस बात को समझे । हमे संयम बना कर रखने की आवश्यकता है । हमे विचारो मे कट्टरता नही लाना है - यही हमारा संकल्प होना चाहिए ।

March 1, 2010 at 7:47 PM
भारतीय नागरिक - Indian Citizen said...

कर्नाटक में दंगा हो गया है, पता नहीं सेकुलर रुदालियां अब कहां हैं

March 2, 2010 at 3:21 PM
nitin tyagi said...

अब भारत में ईसाईयों का ही राज है (सोनिया गाँधी )

March 4, 2010 at 5:56 PM

Post a Comment

बेधड़क अपने विचार लिखिये, बहस कीजिये, नकली-सेकुलरिज़्म को बेनकाब कीजिये…। गाली-गलौज, अश्लील भाषा, आपसी टांग खिंचाई, व्यक्तिगत टिप्पणी सम्बन्धी कमेंट्स हटाये जायेंगे…