Saturday, April 10, 2010

चर्च लगा है हिन्दु साधु-सन्यासियों को बदनाम करने में और मिडीया का है मौन सर्मथन

जिस तरह से कुछ दिन से सिर्फ हिन्दु साधु-सन्यासियों को बदनाम करने का काम किया जा रहा है उसका पर्दाफाश मैंगलोर पुलिस ने किया है इस सिलसिले में पुलिस नें तीन आदमी को हिरासत में लिया और उसके चौकस पर डंडा मारने पर उसने जो बातें बताई वह चौकाने बाला था।

पुलिस के द्वारा पकराये गये तीनों आरोपियों ने बताया कि वह किस तरह से चर्च के इशारा पर हिन्दु साधु-सन्यासियों को डुप्लिकेट का सेक्स विडीयों बना कर उन्हें बदनाम करने का कोशिश करता है इस काम के लिये चर्च से उसे पैसा मिलता हैं।

इस सभी घटना कर्म में सबसे चौकाने बाली बात यह है कि जो मिडीया हिन्दु साधु-सन्यासियों को बदनाम करने बाला विडीयों दिन भर दिखाता था वही मिडीया इस खबर में चुप्पी साधे बैठा है। मिडीया के इस चुप्पी को चर्च का मैन समर्थन माना जाना चाहिये।

8 comments:

Suresh Chiplunkar said...

यह एक बहुत बड़ा षडयन्त्र है, जिसे समझने के लिये लोग अभी उतने परिपक्व नहीं हो पाये हैं…। स्वामी राघवेश्वर सरस्वती, विश्व मंगल गौ ग्राम यात्रा के प्रमुख केन्द्र बिन्दु रहे हैं, अब उन्हें बदनाम करने के षडयन्त्र का भण्डाफ़ोड़ हुआ है कम से कम तब तो आँखें खुलना चाहिये…

April 10, 2010 at 11:21 AM
main... ratnakar said...

yeh shuroo se hee hota chala aa raha hai, hindi films ko hee dekhiye most of the times pujariyon ko lampat dikhaya jata hai, or dusare dharm ke karta dharta sharaafat ke putale batae jate hain. suresh jee sahee kahate hain ki yeh shadyantra hai...... lekin chhadm dharm nirpekshon ke is desh men haalat sudharane men kuchh samay lagega, thanks for your information

April 10, 2010 at 11:44 AM
HINDU TIGERS said...

मिडीया का मौन नहीं सक्रिय समर्थन है क्योंकि भारतीयो संस्कृति के हर सत्मभ पर हमला करने वाले सेकुर गिरोह का मिडिया सबसे सक्रिय सहयोगी है।

April 10, 2010 at 11:57 AM
ajit gupta said...

सारी दुनिया हिन्‍दुओं को चारा समझती है, इसलिए निगलने को तैयार बैठी है। लेकिन इसमें नया क्‍या है? आप अपने पैर मजबूत क्‍यों नहीं करते? जरा उन संगठनों से तो पूछों कि वे क्‍या कर रहे हैं जिन्‍होंने ऐसी करतूतों को समाप्‍त करने के लिए जन्‍म लिया था? वे भी सत्ता के लिए ही लड़ रहे हैं। मीडिया तो भारत का पक्षधर कभी रहा ही नहीं तो हम उनसे कैसे उम्‍मीद पाल रहे हैं?

April 10, 2010 at 12:37 PM
भारतीय नागरिक - Indian Citizen said...

जागो अब तो जागो....

April 11, 2010 at 10:49 AM
जीत भार्गव said...

एक शर्मनाक स्थिती. इस खबर को दबाने वाले सेकुलर मीडिया का दोगलापन साफ़ झलकता है. इससे यह बात भी सिद्ध होती है कि देश और हिन्दू धर्म की अस्मिता पर चोट करने के लिए हमारे मीडिया को अकूत धन मिलता है. चाहे वह प्रणव 'जेम्स' राय का नेहरू डायनेस्टी टीवी हो या राजीव शुक्ला का न्यूज २४ या कोइ और...!!
हिन्दू प्रजा अब भी नहीं जागी तो चर्च और जेहादी उनको घर में घुसकर मारेंगे और मानवाधिकारवादी से लेकर चर्च-गल्फ-पोषित मीडिया कोइ सुध नहीं लेगा.

April 12, 2010 at 1:30 AM
Anonymous said...

bhaut bura laga yeh news dekhkar. hamare dharma ka naas karne par tula hai media. Maine bhi dekha hai yeh jo aajkal nakli guruo ka bara mai dikya ja raha tha. par is news ko nahi dikya gaya abhi tak.

April 12, 2010 at 12:16 PM
Anonymous said...

aaj hindustan main hindu hi gulam ho gaya hai baki sabhi Dharm ajad hai per hindu aaj apne hi desh main सेकुर ho gaya hai aaj agar kishi bhi dharm main kisi bhi admi ( chahe bo terrist hi kyon naho ) ke sath agar koi karbahi hoti hai to ye log sadak aa jate hai or Govt. unki spot main aa jati hai lekin hindu agar hindu rikswa wala bhi ho to use jail main dal diya jata hai roz koi na koi hamare bhagwan ko gali de raha hai koi unki nagi picture bana raha hai per unke kilaf koi police koi govt. kuch nahi karti

August 14, 2010 at 1:14 PM

Post a Comment

बेधड़क अपने विचार लिखिये, बहस कीजिये, नकली-सेकुलरिज़्म को बेनकाब कीजिये…। गाली-गलौज, अश्लील भाषा, आपसी टांग खिंचाई, व्यक्तिगत टिप्पणी सम्बन्धी कमेंट्स हटाये जायेंगे…