Tuesday, March 16, 2010

हमें मजबुर मत करो इस्लाम का बुराई करने के लिये

इधर कई दिनों से कुछ मुस्लिम ब्लागर जो हिन्दु धर्म के बारे में ज्यादा जानते नही हैं अपने अधकचरे जानकारी के द्वारा हिन्दु धर्म को कोसते नजर आते हैं जिनका सिर्फ एक ही काम है हिन्दु धर्म को निचा दिखाना वे अपने अधकचरा जानकारी के द्वारा महान हिन्दु के अच्छाई को भी बुराई बना कर दिखाने का कोशीश कर रहें हैं वैसे ब्लागर को चेतावनी देना चाहता हू हमें मजबुर मत करो इस्लाम का बुराई करने का नही तो यैसे कई ब्लागर हैं जो इस्लाम के कमी को अच्छी तरह जानते है लेकिन अपने अच्छे संस्कार के चलते अपने धर्म के साथ इस्लाम का भी इज्जत करते हैं कही यैसा ना हो कि यैसे हिन्दु ब्लागर भी वही काम करने लगे जो इस्लामिक ब्लागर कर रहें हैं। इसे इस्लामिक ब्लागर चेतावनी के रुप में लें अन्यथा .................................।

32 comments:

Anonymous said...

सत्यवचन

March 16, 2010 at 12:29 PM
RAJIV MAHESHWARI said...

इसे इस्लामिक ब्लागर चेतावनी के रुप में लें अन्यथा .................................।

Kaya karlo ge in logo ka.....aap ak hindu hai....sirf bhokana janate hai ham......

March 16, 2010 at 12:37 PM
aarya said...

आपकी चेतावनी सही है. इस ब्लोगिंग को ब्लोगिंग ही रहने दे अन्यथा इस्लाम में इतनी कमिया हैं की गिनाने पर इन्हें भागने की भी जगह नहीं मिलेगी.
भारतीय नववर्ष 2067 , युगाब्द 5112 व पावन नवरात्रि की शुभकामनाएं
रत्नेश त्रिपाठी

March 16, 2010 at 1:01 PM
मिहिरभोज said...

ये निहायत ही नीचे दर्जे के लोग हैं.....इन्होने ब्लोगिंग की मूल भावना को भी आहते किया है....स्वयं ही लिखना ....फिर स्वयं ही टिप्पणी करना और पसंद करना....ये एक सुनियोजित षड्यंत्र हैं.....इनको पढना बंद करदें ये अपने आप ठीक हो जायेंगे....

March 16, 2010 at 1:09 PM
Sajiya said...

Ye Haramkhor Jo Islam Ko Nahi Jante Hai Wahi Dusre Dharm Ke Bare Mai Yesi Bate Kahte Hai Ye Sabhi Islam Ke Sabse Bare Dusman Hai Aaj Islam Ko Sabhi Nafrat Bhari Nigaho Se Dekhte Hai Iske Piche Yahi Haram Khore Ka Team Kam Kar Raha Hai..................

March 16, 2010 at 1:30 PM
RAJENDRA said...

akhir kahin to apni bhadaas nikalenge - padho hee nahin inhen bakane do

March 16, 2010 at 1:33 PM
पी.सी.गोदियाल said...

सूअर है, उनसे आप कीचड में लोटने और दूसरो पर कीचड उछलने के अलावा और क्या उम्मीद कर सकते है ?

March 16, 2010 at 1:37 PM
Sonal Rastogi said...

कुछ लोग काफी समय से ब्लॉग का प्रयोग अपनी कुंठाओ को जाहिर करने के लिए कर रहे है ..... उनको बढ़ावा ना दिया जाए, उनके उकसाऊ शीर्षक और विवादस्पद मुद्दे उठाने की प्रवति पर तभी रोक लगेगी जब उनपर टिपण्णी ना की जाए
बहिष्कार

March 16, 2010 at 2:19 PM
सलीम ख़ान said...

?

March 16, 2010 at 2:44 PM
आनंद जी.शर्मा said...

कोई अपनी कलम का दुरूपयोग अपने दिमाग की गंदगी फ़ैलाने के लिए करता है तो क्या सभ्य लोग भी उस गंदगी का जबाब देने मात्र के लिए अपनी पवित्र कलम को गन्दी कर लें ?

कलम, रोशनाई, किताब की जगह आज इन्टरनेट लेता जा रहा है - लेकिन ये है तो आखिर कलम, रोशनाई, किताब का ही पर्याय l

फिर हम सभ्य लोग क्यों न इन्टरनेट को भी उसी पवित्रता से प्रयोग में लायें जैसा कि कलम, रोशनाई, किताब को लाते थे l

कोई चीज कितनी भी अच्छी हो - लेकिन कुछ इस प्रकार के संस्कार वाले लोग होते हैं जो सिर्फ और सिर्फ उसका दुरूपयोग करने का तरीका इजाद कर ही लेते हैं - और दुरूपयोग ही करेंगे - क्योंकि वैसे ही संस्कार हैं l

अब संस्कार तो नहीं बदल सकते - आप जैसे चाहो कोशिश कर के देख लें l

देश, काल और परिस्थिति (मजबूरियां) में से एक के भी बदल जाने से परिभाषा बदल सकती है परन्तु संस्कार नहीं बदल सकते l

हमारे संस्कार ऐसे हैं कि हम जहाँ भी जाते हैं - उस स्थान और वहां के लोगों की तरक्की, खुशहाली, अमन, चैन में अपना योगदान देते हैं और फिर भी एहसानमंद रहते हैं l

कुछ ऐसे संस्कार वाले होते हैं जो जहाँ भी जाते हैं - उस जगह अशांति, दंगा, फसाद, लूट, अपराध, बलात्कार, हत्या इत्यादि कर्मों से लोगो को दुखी कर के उनका जीना हराम कर देते हैं और हद दर्जे के एहसानफरामोश होते हैं - सो अलग l

लेकिन इन सब अमानवीय कर्मों के बावजूद यही कहा जा सकता है कि करने वाला तो सिर्फ एक "हार्डवेयर" या "टूल" है - खराबी तो "सोफ्टवेयर" याने कि संस्कारों में है l

तो - सभ्य और सुसंस्कृत लोगों - आपसे यही निवेदन है कि किसी के भड़काने पर उत्तेजित हो कर अपनी पवित्र कलम को गन्दी करना उचित नहीं है l

अंत में - "Those Who Angers You - Controls You" व्यर्थ में उत्तेजित हो कर अपने दिमाग का रिमोट कंट्रोल दूसरे के हाथ में नहीं देना चाहिए l

March 16, 2010 at 4:32 PM
अन्तर सोहिल said...

आपका क्रोधित होना भी स्वाभाविक है जी मगर आदरणीय आनंद जी शर्मा जी की बात सही और शिक्षाप्रद है।

प्रणाम

March 16, 2010 at 4:38 PM
Dr. Anil Kumar Tyagi said...

हिन्दू कभी भी आक्रामक नहीं रहा है, ये विषेशता ही हिन्दूऔ की सबसे बडी कमी भी है, जिसका लाभ सदैव दूसरे धर्मौं के लोग उठाते आये हैं,वो ही उकसाने वाली हरकत आज भी लोग कर रहे र्है, ये लोग ये भी जानते है कि कितने प्रतिशत मुसलमान इन्टरनेट का उपयोग कर पाते हैं, क्यों कि मुल्ला मोलवियों ने तो मुलमानों को ऎसा बनने ही नही दिया कि मुसलमान मुख्यधारा में आयें, वहाँ तो जोर मदरसों में दीनी शिक्षा पर ही रहता है। मुल्ला मोलवियों को पता है कि यदि भारत में सभी मुसलमान आधुनिक शिक्षा ग्रहण कर लेंगे तो खुले विचारों के हो जायेंगे, और इनकी दुकान बन्द हो जायेगी। जब इनको पढने वाले इनके लोग कम ही हैं तो हिन्दूओं को चाहिऎ कि इनके ब्लाग पर कोई टिप्पणी ही ना की जाये। इस प्रकार के ब्लागरों के लिये उपेक्षा से बडी सजा कोइ नहीं है। जय भारत माता.....

March 16, 2010 at 7:02 PM
SHIVLOK said...

Anand Sharma Ji se sahmat
Anand ji ko mera pranam

March 16, 2010 at 7:36 PM
Jandunia said...

इतना क्रोधित होने की जरूरत नहीं है। हिन्दू धर्म को किसी की आलोचना या प्रशंसा से कोई फर्क नहीं पड़ता। सनातन धर्म है सम्मान स्वतः पैदा होता है।

March 16, 2010 at 7:39 PM
DR. ANWER JAMAL said...

@ Anil ji
aaj meri post hamarianjuman.blogspot.com pr dekhen ' thodi der men aur jaanen ki madarse men kya sikhate hain?
pls do not angry .

March 16, 2010 at 7:41 PM
Tarkeshwar Giri said...

Ho Galat hai use galat kahne main kya jata hai . Jai Mata Ki.

March 16, 2010 at 8:17 PM
Dr D.P Rana said...

ये सरकार कहाँ सो रही है , कोई आम भारतीय यदि कुछ इस्लाम के बारे मे कुछ गलत लिखता है तो उस पर तो पोटा लगता है , और ये भाई साहब तो समाज मे जहर पैदा कर रहे है ? कहा गया देश का कानुन?एसे ब्लोग पर विजिट करना बंद कर दिजीये । अपने आप अक्ल ठीक हो जाएगी http://jivayurveda.blogspot.

March 16, 2010 at 8:58 PM
SUNIL DOGRA जालि‍म said...

दूसरों की कमियां निकालने चले हो ...यह कैसा हिंदुत्व है ...पहले हिन्दू बनो फिर दूसरों कों हिंदुत्व सिखाना श्रीमान जी. मेरी बात कों अन्यथा मत लेना. ब्लॉगजगत की दुहाई है

March 16, 2010 at 10:27 PM
प्रभात said...

डागरा जी के कमेन्ट को अन्यथा न लें! ऐसे धर्मनि की बात का बुरा नहीं मानना चाहिये...शाजिया जी की बात पर ध्यान दें, उन्होंने सही लिखा है. कल से डोगरा जी हिन्दुत्व सिखायेंगे. हम सब सीखेंगे. डोगरा जी स्वच्छ और वेदकुरान पर भि गये हैं कभि? या कोई ऐसी ही प्रोफाइल लेकर घूम रहे हैं. किस पाठशाला के विद्याअर्थी हैं, ये भी बतायेम

March 17, 2010 at 1:56 AM
जीत भार्गव said...

भाई सरकार उनकी है. मीडिया उनका है. तथाकथित बुद्धीजीवी उनके हैं. हिन्दू जयचंदों की फ़ौज उनकी है. मानवाधिकारवादी उनके हैं. दाउद उनका है. पाकिस्तान की ताकत और अरबो की दौलत उनके पास है. तो फिर ये तो होना ही है. शुक्र करो की अब हिन्दुओं के तक खतने और बुर्के की बारी नहीं आई है. ऐसा ही चलता रहा तो वह दिन भी दूर नहीं...जय हो सेकुलरिज्म की!!

March 17, 2010 at 2:01 AM
Anonymous said...

नहीं भाई, डोगरा जी का खुद का खानदान कश्मीरी आतंकियों की गाली और गोली खा चुका है...फिर भी बेचारे सेकुलर बने फिरते हैं. शायद एनडीटीवी में नौकरी के जुगाड़ में हैं. शायद वह जानते नहीं हैं की कश्मीरी जेहादियों ने अपने जेहाद को जायज ठहराने के लिए एक नई थ्योरी तैयार की है कि कश्मीरी मुस्लिमो पर कश्मीरी डोगरा राजाओं ने बड़े जुल्म किये हैं. कश्मीरी मुस्लिमो को दबाया जाता रहा है इसलिए इन्साफ (?) के लिए उन्होंने हथियार उठाये हैं.
:विवेक कौल

March 17, 2010 at 2:07 AM
Anonymous said...

बाइबिल में सैंकड़ों कमियां और गलतियाँ हैं.
हिन्दू ग्रंथों में हजारों कमियां और गलतियाँ हैं.
लेकिन कुरआन में एक भी कमी या गलती नहीं है.

होगी भी कैसे, कमी या गलती बताने पर जान से हाथ जो धोना पड़ेगा.

March 17, 2010 at 8:19 AM
Anonymous said...

श्री मान डोगरा जी आप आपने नपूंसकता को तर्क दे द्वारा ठकने का कार्य ना करें अपने अगर आपके घर के औरतों के उपर कोई जूल्म करे तो क्या आप अपने आप को इन्सानियत का पाढ़ पढायेंगें या उनका बचाव करेंगे।

March 17, 2010 at 9:44 AM
Anil Pusadkar said...

उनका बहिष्कार करना चाहिये और आपसे सहमत हूं मुंहतोड़ जवाब भी दिया जाना चाहिये।

March 17, 2010 at 10:09 AM
nitin tyagi said...

ये सिर्फ मुस्लिम्स ब्लोगेर्स की कुंठा है इसलिए उनको जो लिखना है लिखें |
क्रिया की हमेशा प्रितिक्रिया होती ही है इसकी भी होगी चाहे वो किसी रूप में भी हो |

March 17, 2010 at 10:24 AM
Anonymous said...

ये लोग कमीने थे, कमीने हैं और कमीने ही रहेंगे… डोगरा जैसे मुसलमानों के खैर्ख्वाह ही असली गद्दार हैं…। हरफ़-ए-गल्त के नाम से एक ब्लाग चल रहा है उसे पढ़ो, उधर इस्लाम की सारी बुराईया खोलकर रख दी हैं, कैरानवी को भी मिरचि लग चुकी है उधर…। ये अनवर नाम का नकली आदमी हरफ़े-गल्त पर कभि जबाब नहि देता क्योकि उसे मालुम है कि उधर जो लिखा है सब सच है… 9 साल की लडकि के साथ निकाह करने वाला आदमी इन लोगो का भगवान है इनसे क्या उमीद कर रहे हो दोस्तो

March 17, 2010 at 12:29 PM
महाशक्ति said...

आतंकवादी तो है ही ये लोग, अभी थोड़ा हम व्‍यस्‍त है, 5 अप्रेल के बाद मुसलमानो की जनाजा धूमधाम से बैंडबाजे के साथ निकालेगे।

तब इन सुवरो को घूम-घूम कर मैला खोरी करने दो।

March 18, 2010 at 7:35 AM
बी एन शर्मा said...

ham to kab se islam ka asli chehra logon ke samne rakhte aa rahe hain .lekin khud hi hindu dar jate hain .mushkil se do char aise blogar honge jo islam ke bare me sahi jankar rakhate hon .aur muslimon ko jawab de sakate hon .

October 11, 2010 at 1:16 PM
चन्द्र प्रकाश दुबे said...

ये कुंठित और मानसिक दिवालियेपन के शिकार लोग है. इनकी बातों को तवज्जो न देना ही श्रेयस्कर है. ये आज कल धार्मिक ब्लॉग युद्ध कर रहें है.

March 17, 2011 at 10:31 PM
Tumhara bap said...

Salo hinduo ka to astitv hi nahi milta he tumhare 33 krore bhagwan he inme se 1.cow ka gobar
2.gomutra
3.kutta
4.chuha
5.bandar etc
ye sari gandi nasle tumhare bhagwan he inhi ki nasle tum ho

October 6, 2012 at 2:37 PM
Nafees Malik said...

इस्लाम को आंतकवादी बोलते हो। जापान मे तो अमेरिका ने परमाणु बम गिराया लाखो बेगुनाह मारे गये तो क्या अमेरिका आंतकवादी नही है। प्रथम विश्व युध्द मे करोडो लोग मारे गये इनको मारने मे भी कोई मुस्लिम नही था। तो क्या अब भी मुस्लिम आंतकवादी है। दूसरे विश्व युध्द मे भी लाखो करोडो निर्दोषो की जान गयी इनको मारने मे भी कोई मुस्लिम नही था। तो क्या मुस्लिम अब भी आंतकवादी हुए अगर नही तो फिर तुम इस्लाम को आंतकवादी बोलते कैसे हो। बेशक इस्लाम शान्ति का मज़हब है।और हाॅ कुछ हदीस ज़ईफ होती है।ज़ईफ हदीस उनको कहते है जो ईसाइ और यहूदियो ने गढी है। जैसे मुहम्मद साहब ने 9 साल की लडकी से निकाह किया ये ज़ईफ हदीस है। आयशा की उम्र 19 साल थी। ये उलमाओ ने साबित कर दिया है। क्योकि आयशा की बडी बहन आसमा आयशा से 10 साल बडी थी और आसमा का इंतकाल 100 वर्ष की आयु मे 73 हिज़री को हुआ। 100 मे से 73 घटाओ तो 27 साल हुए।आसमा से आयशा 10 साल छोटी थी तो 27-10=17 साल की हुई आयशा और आप सल्ललाहु अलैही वसल्लम ने आयशा से 2 हिज़री को निकाह किया।अब 17+2=19 साल हुए। इस तरह शादी के वक्त आयशा की उम्र 19 आप सल्ललाहु अलैही वसल्लम की 40 साल थी इन हिन्दुओ का इतिहास द्रोपती ने 5 पांडवो से शादी की क्या ये गलत नही है हम मुसलमान तो 11 औरते से शादी कर सकते है ऐसी औरते जो विधवा हो बेसहारा हो। लेकिन क्या द्रोपती सेक्स की भूखी थी। और शिव की पत्नी पार्वती ने एक लडके को जन्म दिया शिव की गैरमूजदगी मे। पार्वती ने फिर किसकी साथ सेक्स किया ।इसलिए शिव ने उस लडके की गर्दन काट दी क्या भगवान हत्या करता है ।श्री कृष्ण गोपियो नहाते हुए क्यो देखता था और उनके कपडे चुराता था जबकि कृष्ण तो भगवान था क्या भगवान ऐसा गंदा काम कर सकता है । महाभारत मे लिखा है कृष्ण की 16108 बीविया थी तो फिर हम मुस्लिमो एक से अधिक शादी करने पर बुरा कहा जाता । महाभारत युध्द मे जब अर्जुन हथियार डाल देता तो क्यो कृष्ण ये कहते है ऐ अर्जुन क्या तुम नपुंसक हो गये हो लडो अगर तुम लडते लडते मरे तो स्वर्ग को जाओगे और अगर जीत गये तो दुनिया का सुख मिलेगा। तो फिर हम मुस्लिमो को क्यो बुरा कहा जाता है हम जिहाद बुराई के खिलाफ लडते है अत्यचारियो और आक्रमणकारियो के विरूध वो अलग बात है कुछ मुस्लिम जिहाद के नाम पर बेगुनाहो को मारते है और जो ऐसा करते है वे मुस्लिम नही हैक्योकी आल्लाह पाक कुरान मे कहते है एक बेगुनाह का कत्ल सारी इंसानयत का कत्ल है। और सीता की बात करू तो राम तो भगवान थे क्या उनमे इतनी भी शक्ति नही कि वे सीता के अपहरण को रोक सके जब राम भगवान थे तो रावण की नाभि मे अमृत है ये उनको पहले से ही क्यो नही पता था रावण के भाई ने बताया तब पता चला। क्या तुम्हारे भगवान राम को कुछ पता ही नही कैसा भगवान है ये।और सीता को घर से बाहर निकाल दिया गया था तो लव कुश कहा से आये किससे सेक्स किया सीता ने बताओ।और इन्द्र देवता ने साधु का वेश धारण कर अपनी पुत्रवधु का बलात्कार किया फिर भी आप देवता क्यो मानते हो। खुजराहो के मन्दिर मे सेक्सी मानव मूर्तिया है क्या मन्दिर मे सेक्स की शिक्षा दी जाती है मन्दिरो मे नाच गाना डीजे आम है क्या ईश्वर की इबादत की जगह गाने हराम नही है ।राम ने हिरण का शिकार क्यो किया बहुत से हिन्दु कहते है हिरण मे राक्षस था तो क्या आपके राम भगवान मे हिरण और राक्षस को अलग करने की क्षमता नही थी ये कैसा भगवान है।हमे कहते हो जीव हत्या पाप है मै भी मानता हू कुत्ते के बेवजह मारना पाप है ।कीडी मकोडो को मारना पाप है पक्षियो को मारना पाप है। लेकिन ऐसे जानवर जिनका कुरान मे खाना का जिक्र है खा सकते है क्योकि मुर्गे कटडे बकरे नही खाऐगे तो इनकी जनसख्या इतनी हो जायेगी बाढ आ जायेगी इन जानवरो की। सारा जंगल का चारा ये खा जाया करेगे फिर इन्सान के लिए क्या बचेगा। हर घर मे कटडे बकरे होगे। बताओ अगर हर घर मे भैंसे मुर्गे होगे तो दुनिया कैसे चल पाऐगी। आए दिन सिर्फ हिन्दुस्तान मे लाखो मुर्गे और हजारो कटडे काटे जाते है । 70% लोग मांस खाकर पेट भरते है । सब को शाकाहारी भोजन दिया जाये तो महॅगाई कितनी हो जाएगी। समुद्री तट पर 90% लोग मछली खाकर पेट भरते है। समझ मे आया कुछ शाकाहारी भोजन खाने वालो मांस को गलत कहने वाले हिन्दुओ अक्ल का इस्तमाल करो

December 11, 2016 at 2:16 AM
Nafees Malik said...

हिन्दु धर्म मे शिव भगवान ही नसेडी है तो उसके कावडिया भी नसेडी। जितने त्योहार है हिन्दुओ के सब बकवास।होली को लेलो मानते है भाईचारे का त्योहार होली पर शराब पिलाकर एक दुसरे से दुश्मनी निकाली जाती है।होली से अगले दिन अखबार कम से कम 100 लोगो के मरने की पुष्टि करता है ।अब दीपावली को देखलो कितना प्रदुषण बुड्डे बीमार बुजुर्गो की मोत होती है। पटाखो के प्रदुषण से नयी नयी बीमारिया ऊतपन होती है। गणेशचतुर्थी के दिन पलास्टर ऑफ पेरिस नामक जहरीले मिट्टी से बनी करोडो मूर्तिया गंगा नदियो मे बह दी जाती है। पानी दूषित हो जाता है साथ ही साथ करोडो मछलिया मरती है तब कहा चली जाती है इनकी अक्ल जीव हत्या तो पाप हैहम मुस्लिमो को बोलते है चचेरी मुमेरी फुफेरी मुसेरी बहन से शादी कर लेते हो। इन चूतियाओ से पूछो बहन की परिभाषा क्या होती है मै बताता हू साइंस के अनुसार एक योनि से निकले इन्सान ही भाई बहन हो सकते है और कोई नही। तुम भाई बहन के चक्कर मे रह जाओ इसलिए हिन्दु लडको की शादिया भी नही होती अक्सर । हमारे बनत नाम के गाव मे 300 जाट के लडके रण्डवे है शादी नही होती फिर उनका सेक्स का मन करता है वे फिर लडकियो महिलाओ की साथ बलात्कार करते है ये है हिन्दु धर्म । और सबूत हिन्दुस्तान मे अमेरिका के बाद सबसे ज्यादा रेप होते है । किसी मुस्लिम मुल्क का नाम दिखा दो या बता दो बता ही नही सकते। तुम्हारे हिन्दुओ लडकियो को कपडे पहनने की तमीज नही फिटिंग के कपडे छोटे कपडे जीन्स टीशर्ट आदि पहननती है ।भाई बाप के सामने भी शर्म नही आती तुमको ऐसे कपडो मे थू ऐसे कपडो मे को देखकर तो सभी इन्सानो की ऑटोमेटिकली नीयत खराब हो जाती है इसलिए हिन्दु और अंग्रेजी लडकियो की साथ बलात्कार होते हे इसके लिए ये लडकिया खुद जिम्मेदार है।।और हिन्दु लडकियो के हाथ मे सरे आम इंटरनेट वाला मोबाइल उसमे इतनी गंदी चीजे थू और लडकियो को पढाते इतने ज्यादा है जो उसकी शादी भी ना हो पढी लिखी को स्वीकार कौन करता है जल्दी से पढने का तो नाम है घरवालो के पैसे बरबाद करती है और लडको की साथ अय्याशी करती है उन बेचारो का टाइम वेस्ट। इन चूतियाओ से पूछो लडकि इतना ज्यादा पढकर क्या करेगी।मर्द उनके जनखे हो जो औरत कमाऐगी मर्द बैठकर खाऐगे।सही कहू तो मर्दो की नौकरिया खराब करती है जहा मर्द 20000 हजार रूपये महीने की माॅग करे वहा लडकिया 2000 मे ही तैय्यार हो जाती हैबहुत हिन्दु गर्व के साथ कहते है कि हमारी गीता मे लिखा है कि ईश्वर कण कण मे विध्मान है ।सब चीजे मे है इसलिए हम पत्थरो को पूजते है और भी बहुत सारी चीजो को पूजते है etc. लेकिन मै कहूगा इनकी ये सोच बिल्कुल गलत है क्योकि अगर कण कण मे भगवान है तो क्या गू गोबर मे भी है आपका भगवान। जबकि भगवान या खुदा तो पाक साफ है तो कण कण मे कहा से विध्मान हुआ भगवान। इसलिए मै आपसे कहना चाहता हू भगवान हर चीज मै नही है बल्कि हर चीज उसकी है और वो एक है इसलिए पूजा पाठ मूर्ति चित्र सब गलत है कुरान अल्लाह की किताब है इसके बताये गये रास्ते पर चलो। सबूत भी है क्योकि कुरान की आयते पढकर हम भूत प्रेत बुरी आत्माओ राक्षसो से छुटकारा पाते है।हमारी मस्जिद मे बहुत हिन्दु आते है ईलाज करवाने के लिए । और मौलवी कुरान की आयते पढकर ही सभी को ठीक करते है । इसलिए कुरान अल्लाह की किताब है । जबकि आप वेदो मंत्रो से दसरो को नुकसान पहुचा सकते है अच्छाई नही कर सकते किसी की और सभी भगत पंडित जादू टोना टोटके के अलावा करते ही क्या है। जबकि कुरान से अच्छाई के अलावा आप किसी के साथ बुरा कर ही नही सकते। इसलिए गैर मुस्लिमो कुरान पर ईमान लाओ।

December 11, 2016 at 2:16 AM

Post a Comment

बेधड़क अपने विचार लिखिये, बहस कीजिये, नकली-सेकुलरिज़्म को बेनकाब कीजिये…। गाली-गलौज, अश्लील भाषा, आपसी टांग खिंचाई, व्यक्तिगत टिप्पणी सम्बन्धी कमेंट्स हटाये जायेंगे…