Saturday, April 24, 2010

जमशेदपुर में राष्ट्रगीत वंदे मातरम् का अपमान

जमशेदपुर। 'वंदे मातरम्', एक ऐसा शब्द जिसके ओजपूर्ण स्वर से ही रग-रग में देशभक्ति का जोश पैदा हो जाता है। इस गीत का गान करते हुए हजारों देशभक्त देश पर कुर्बान हो गए लेकिन विग इंग्लिश स्कूल, छोटा गोविंदपुर में बच्चों को जो डायरी दी गई है, उसमें बंकिमचंद्र चटर्जी की कालजयी रचना 'वंदे मातरम्' की पंक्तियों के साथ ऐसा मजाक किया गया है कि बंकिमचंद्र की आत्मा भी कराह उठे। जब यह मामला प्रकाश में आया तो स्कूल प्रबंधन अब मुंह छिपाए घूम रहा है। उधर, राज्य के शिक्षा मंत्री हेमलाल मुर्मू को जब इसकी जानकारी मिली तो उन्होंने कहा कि मामले को गंभीरता से लिया जाएगा। यह भारतीयों की भावनाओं से जुड़ा मामला है। अगर जांच में स्कूल प्रबंधन दोषी पाया गया तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। इधर, पूर्वी सिंहभूम के उपायुक्त रबीन्द्र कुमार अग्रवाल ने कहा कि अभी उन्हें इसकी जानकारी नहीं है। संज्ञान में आते ही उचित कार्रवाई की जाएगी।
विग इंग्लिश स्कूल के प्राचार्य जेके बनर्जी ने माना कि गंभीर चूक है। लेकिन उन्होंने यह भी कहा कि छापने वाला गलत छाप दिया तो मैं क्या करूं। यह जानते हुए कि राष्ट्रगीत 'वंदे मातरम्' गलत छपा है, स्कूल प्रबंधन ने छात्रों के बीच डायरी वितरित कर दी। दो महीने बीत जाने के बावजूद स्कूल प्रबंधन को यह पता भी नहीं है कि डायरी में जो राष्ट्रगीत छपा है, वह गलत है।
अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कोल्हान विभाग प्रमुख अमिताभ सेनापति ने कहा कि राष्ट्रगीत का अपमान देशद्रोह के समान है। उन्होंने विद्यालय प्रबंधन को चेताते हुए कहा कि अगर जल्द सुधार नहीं किया गया तो एबीवीपी उग्र आंदोलन करेगा।
डायरी में छपे राष्ट्रगीत के कुछ अंश इस प्रकार हैं ---
वन्दे मातरम्
सुजलां सुफलां मलयजभीतलां
भास्यभयामलां मांतरम्
भाुभ्र-ज्योत्स्ना-पुलकित-यामिनीम्-
फुल्ल-कुसुमित-द्रुमदल भाोभिनीम्
सुखदां वरदां मातरम्

साभार-दैनिक जागरण
चंदन कुमार

4 comments:

अन्तर सोहिल said...

घोर निंन्दनीय घटना
विद्यालय प्रबंधन और प्राचार्य दोषी हैं

प्रणाम

April 24, 2010 at 4:10 PM
sansadjee.com said...

वंदे मातरम तो क्या, किसी का भी अपमान नहीं करना चाहिए।

April 24, 2010 at 6:43 PM
nitin tyagi said...

वन्दे मातरम्

April 27, 2010 at 12:33 PM
~जितेन्द्र दवे~ said...

Kya Hoga Is Desh Kaa??

May 2, 2010 at 3:18 AM

Post a Comment

बेधड़क अपने विचार लिखिये, बहस कीजिये, नकली-सेकुलरिज़्म को बेनकाब कीजिये…। गाली-गलौज, अश्लील भाषा, आपसी टांग खिंचाई, व्यक्तिगत टिप्पणी सम्बन्धी कमेंट्स हटाये जायेंगे…